जन्मकुंडली में (1,4,7,10) भावों में है ग्रह तो मिलेगी हर सफलता

प्रिय दर्शकों आज का विषय बहुत सरल, बहुत आसन है ! सभी जानते है इसे, ये विषय बहुत महत्वपूर्ण है | जन्म कुंडली में केंद्र का भाव 1,4,7,10 अगर इन भावों में ग्रह हो तो ये भी कारक हो जाता है और जातक को सभी सुख देने लगता है |